Monday, February 27, 2012

संजीव निगम संपादित पुस्तक " मंजुल भारद्वाज - थिएटर ऑफ रेलेवेन्स ”

‘थिएटर ऑफ रेलेवेन्स ' थिएटर को लोगों से, लोगों के लिए, लोगों द्वारा प्रस्तुत, आम जीवन का एक अभिन्न अंग मानता है. इस नाट्य धारा पर संजीव निगम संपादित पुस्तक " मंजुल भारद्वाज - थिएटर ऑफ रेलेवेन्स ” रवि प्रकाशन से  प्रकाशित  !

NYAYE KE BHANWAR MEIN BHAWARI- a play by Theatre Thinker Manjul Bhardwaj

NYAYE KE BHANWAR MEIN BHAWARI - Challenges the oppression of patriarchy & its system. रंगचिन्तक मंजुल भारद्वाज का नाटक “ न्याय के...